सरकार ने की खीरी के 47630 पंजीकृत श्रमिकों के खातों में 4.76 करोड़ की धनराशि अंतरित डीएम ने प्रतीक स्वरूप 5 श्रमिकों को वितरित किए स्वीकृत पत्र

(ओमप्रकाश ‘सुमन’)

पलियाकलां (खीरी )लखीमपुर 09 जून 2021। बुधवार को कलेक्ट्रेट स्थित जिला इमरजेंसी से ऑपरेशन सेंटर (एनआईसी) कक्ष से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में राजधानी लखनऊ में आयोजित श्रम विभाग के तत्वावधान में उप्र भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड द्वारा पंजीकृत निर्माण श्रमिको के हितार्थ संचालित आपदा राहत सहायता वितरण कार्यक्रम में डीएम डॉ अरविंद कुमार चौरसिया, सहायक श्रमायुक्त डॉ एम.के. पांडेय, एसडीएम सदर डॉ अरुण कुमार सिंह, श्रम प्रवर्तन अधिकारी अनिल कुमार, विद्या प्रकाश शर्मा के साथ पंजीकृत श्रमिक उमाशंकर, सर्वेश, सुंदर लाल, राम कुमार व राम लखन वर्चुअल जुड़े। सीएम ने असंगठित श्रमिकों के लिए उप्र राज्य असंगठित श्रमिक सामाजिक सुरक्षा बोर्ड के पोर्टल का शुभारंभ किया।

जनपद खीरी के 47601 पंजीकृत श्रमिकों के खातों में एक हजार प्रति श्रमिक की दर से चार करोड़ 76 लाख एक हजार की धनराशि ऑनलाइन अंतरित भेजे गए। जिले के 05 पंजीकृत श्रमिकों को प्रतीक स्वरूप डीएम डॉ अरविंद कुमार चौरसिया ने पंजीकृत श्रमिक उमाशंकर, सर्वेश, सुंदर लाल, राम कुमार व राम लखन को स्वीकृत पत्र वितरित किए। डीएम ने पंजीकृत श्रमिकों से बातचीत कर उनके कामकाज व अब तक प्राप्त की गई योजनाओं से लाभों की जानकारी हासिल की। बताते चलें कि इससे पूर्व भी आपदा राहत सहायता योजना से एक-एक हजार की दो किस्ते पंजीकृत कामगारों के खातों में अंतरित की जा चुकी है। डीएम ने पंजीकृत श्रमिकों से अपील करते हुए कहा कि वह अन्य श्रमिको साथियों को भी प्रेरित कर उनका पंजीयन कराएं, ताकि ज्यादा से ज्यादा श्रमिक योजनाओं से लाभान्वित हो सके। उन्होंने श्रम विभाग के अधिकारियों को भी अधिक से अधिक पंजीयन कराने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आपदा राहत सहायता योजना से लाभान्वित सभी पंजीकृत श्रमिकों को शुभकामनाएं देकर उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। सीएम ने कहा कि श्रमिकों के हितों को सुरक्षित रखने के लिए प्रदेश सरकार पूरी तरह प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि कोविड की चैन कमजोर हुई न कि समाप्त इसलिए सतर्कता व सावधानी बरतें। फेस मास्क के उपयोग व दो गज की दूरी का पालन करे। उन्होंने कहा कि नीति आयोग, डब्लूएचओ सहित कई अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं ने यूपी के काम को सराहा है। उन्होंने वर्चुअल जुड़े श्रमिकों से अपील की कि अपने अन्य श्रमिक साथियों को पंजीकृत होने के लिए प्रेरित व प्रोत्साहित करे। ताकि उन्हें श्रम विभाग की जनकल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित हो सकेंगे और उनके जीवन स्तर में सुधार आएगा।

Spread the love

About the Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.