बाढ़ की विभीषिका से निपटने के लिए डीएम ने अधिकारियों संग की वर्चुअल बैठक, बाढ़ तैयारियों में तन्मयता से जुटें अफसर :डीएम

(ओमप्रकाश ‘सुमन’)

पलियाकलां (खीरी )लखीमपुर 10 जून 2021। गुरुवार को डीएम डॉ अरविंद कुमार चौरसिया ने जिले के प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बाढ़ की विभीषिका से निपटने के लिए आवश्यक वर्चुअल बैठक की।

बैठक की अध्यक्षता करते हुए डीएम डॉ अरविंद कुमार चौरसिया ने कहा कि सभी अधिकारी बाढ़ की विभीषिका से निपटने के लिए अपनी कमर कस लें। सभी एसडीएम नदियों के जल स्तर पर निगाह रखकर तदनुसार कार्रवाई सुनिश्चित करें। बाढ़ चौकी व बाढ़ राहत केंद्र की स्थापना सहित उनमें स्टाफ की ड्यूटी सहित बिजली, पानी सहित अन्य मूलभूत सुविधाएं सुनिश्चित कराई जाए। बाढ़ राहत शिविर में एसओपी अनुसार सभी मुकम्मल इंतजाम कराए। बाढ़ के दौरान छोटी नाव का संचालन पूर्णतया प्रतिबंधित रहेगा। वही जो नावे चलेंगी उनमें लाल झंडी लगेगी। जो नाव मरम्मत योग्य है, उसकी तत्काल मरम्मत करा लें कोई भी क्षतिग्रस्त नाव का इस्तेमाल कदापि न करें। यह प्रत्येक दशा में सुनिश्चित कराया जाए। संवेदनशील स्थल पर बाढ़ के अनुरक्षण या मरम्मत की आवश्यकता हो तो तत्काल सूचित करें। 15 जून तक बाढ़ का कंट्रोल रूम प्रत्येक तहसील में क्रियाशील हो जाए।

सभी एसडीएम-तहसीलदार सिंचाई विभाग के अधिकारियों से समन्वय कर कटान प्रभावित क्षेत्रों में कराए गए कार्यों का भ्रमण कर ले। परंपरागत ढंग से प्रत्येक वर्ष जहां बाढ़ एवं कटान की समस्या रहती है। वहां कम्युनिकेशन प्लान न केवल तैयार करें बल्कि स्वयं भी उसे क्रॉसचेक करें। ताकि इन क्षेत्रों में बाढ़ से पूर्व इन क्षेत्रों में मुनादी हो सके। बाढ़ क्षेत्र के आसपास ऊंचे स्थलों को चिन्हित करें। वहां हैंडपंप भी लगवाए। उन्होंने बाढ़ से प्रभावित होने वाले ग्रामों का चिन्हांकन, जल का उच्च स्तर, रेस्क्यू के लिए नाविकों की उपलब्धता व नामों की क्रियाशीलता सहित गोताखोरों को सूचीबद्ध करने के निर्देश दिए।

डीएम ने तहसीलदार एसडीएम एवं तहसीलदारों से बाढ़ पूर्व तैयारियों की बिंदुवार जानकारी ली। उन्होंने बाढ़ राहत केंद्र के सन्निकट अस्थाई शौचालय बनवाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी बाढ़ की विभीषिका से निपटने के लिए पूरी तन्मयता से जुट जाएं। सीएमओ को निर्देश दिए कि बाढ़ के दौरान एंटी स्नेक वेनम इंजेक्शन एवं क्लोरीन की टेबलेट की उपलब्धता पर्याप्त मात्रा में बनी रहे।

डीएम ने सभी ईओ, नगर निकाय जलभराव वाले स्थलों को चिन्हित कर जल निकासी की व्यवस्था सुनिश्चित कराएं। नालों की सफाई के उपरांत अवशेष/अवशिष्ठ उठान करवाएं। ग्रामीण क्षेत्रों में डीपीआरओ साफ सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित कराने के साथ ही जलजमाव वाले क्षेत्रों में एंटी लार्वा का छिड़काव करवाएंगे। उन्होंने निर्देश दिए कि कोविड-19 प्रोटोकाल से संक्रमित व्यक्ति के घर एवं आसपास सैनिटाइजेशन करवाएंगे।

बैठक में अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) अरुण कुमार सिंह ने जिले में अब तक की गई बाढ़ तैयारियों पर बिंदुवार जानकारी दी। उन्होंने कहा कि फील्ड में सभी अधिकारी सतर्क रहकर निगाह रखें। बेहतर कम्युनिकेशन प्लान बनाकर बाढ़ से पूर्व लोगों को मुनादी के माध्यम से सचेत करेंगे।

वर्चुअल बैठक में अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व अरुण कुमार सिंह सहित सभी उप जिलाधिकारी एवं तहसीलदार जुड़े।

Spread the love

About the Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.